Homeरायपुर : स्वच्छ भारत मिशन अभियान : छत्तीसगढ़ में लगभग दो हजार ग्राम पंचायतें होंगी खुले में शौच मुक्त

Secondary links

Search

रायपुर : स्वच्छ भारत मिशन अभियान : छत्तीसगढ़ में लगभग दो हजार ग्राम पंचायतें होंगी खुले में शौच मुक्त

Printer-friendly versionSend to friend

    रायपुर, 20 जुलाई 2015

स्वच्छ भारत मिशन के तहत छत्तीसगढ़ में चालू वित्तीय वर्ष में सात लाख शौचालय बनाने का लक्ष्य रखा गया है। अभियान के तहत एक हजार 986 ग्राम पंचायतों को खुले में शौच मुक्त बनाने का भी लक्ष्य निर्धारित किया गया है। मिशन संचालक डॉ. एम. गीता की अध्यक्षता में आज यहां नीर भवन, रायपुर में स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) की समीक्षा बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में स्वच्छ भारत मिशन की संचार एवं क्षमता निर्माण इकाई की निदेशक, श्रीमती यास्मिन सिंह सहित सभी जिलों के जिला परियोजना समन्वयक और जिला समन्वयक उपस्थित थे।
बैठक में अधिकारियों ने बताया कि निर्धारित लक्ष्य केे विरूद्ध जुलाई 2015 तक 20 हजार शौचालयों का निर्माण किया जा चुके हैं। बैठक में जिलों द्वारा स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) को जन आंदोलन बनाने हेतु अपनाई गई रणनीति पर पावर पाइंट प्रेजेंटेशन के माध्यम से प्रस्तुतिकरण किया गया। मिशन संचालक डॉ. गीता ने राजनांदगांव और  बिलासपुर जिले द्वारा इस अभियान के तहत प्राप्त उपलब्धियों की प्रशंसा की। डॉं. गीता ने इस मिशन को बस्तर संभाग और सरगुजा संभाग में भी सफल बनाने विचार-विमर्श किया।  इस  अवसर पर तकनीकी सहयोग एवं क्षमतावर्धन के लिए वाटरशेड तथा यूनिसेफ के प्रतिनिधियों से भी चर्चा की गई। मिशन संचालक, डॉ. गीता द्वारा खुलें में शौच मुक्त ग्राम बनाये जाने पर विशेष बल दिया। ग्रामीण क्षेत्रों में ठोस एवं तरल अपशिष्ट प्रबंधन कार्य को गति देने के लिए सभी जिलों को निर्देश दिए गये। स्वच्छता अभियान में जन जागरूकता एवं क्षमतावर्धन के लिए ग्राम स्तरीय गतिविधियां  आयोजित किये जाने के निर्देश भी दिए। डॉ. गीता ने स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) को सफल बनाने के लिए प्रदेश के सभी संभागायुक्त और कलेक्टरों  के साथ माह अगस्त के प्रथम सप्ताह में संभाग स्तरीय बैठक आयोजित करने के निर्देश दिए।

 

क्रमांक-1870/ओम

Date: 
20 Jul 2015