Homeरायपुर : छत्तीसगढ़ के गांवों-शहरों में आज 50 लाख लोग लेंगे स्वच्छता की शपथ : सफाई के लिए श्रमदान देंगे पांच लाख नागरिक और अधिकारी-कर्मचारी

Secondary links

Search

रायपुर : छत्तीसगढ़ के गांवों-शहरों में आज 50 लाख लोग लेंगे स्वच्छता की शपथ : सफाई के लिए श्रमदान देंगे पांच लाख नागरिक और अधिकारी-कर्मचारी

Printer-friendly versionSend to friend

लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के सचिव ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से की तैयारी की समीक्षा
विभिन्न सांस्कृतिक आयोजनों में भी दिया जा रहा है स्वच्छता का संदेश

रायपुर. 01 अक्टूबर 2014

राष्ट्रीय स्वच्छता अभियान के तहत छत्तीसगढ़ में कल 02 अक्टूबर को गांधी जयंती के अवसर पर सवेरे 9.45 बजे आयोजित कार्यक्रमों में लगभग 50 लाख लोग शामिल होकर स्वच्छता शपथ लेंगे। शपथ ग्रहण के बाद सभी जिला मुख्यालयों में आयोजित श्रमदान कार्यक्रमों में भी प्रदेश भर के पांच लाख लोग साफ-सफाई के काम में भागीदार बनेंगे।
    लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के सचिव तथा राष्ट्रीय स्वच्छता अभियान के राज्य प्रभारी श्री जी.एस. मिश्रा ने शपथ कार्यक्रम के बारे में आज यहां मंत्रालय (महानदी भवन) में दो घंटे तक वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिए सभी संभागीय कमिश्नरों और जिला कलेक्टरों की बैठक ली। श्री मिश्रा ने उन्हें 02 अक्टूबर को होने वाले विभिन्न कार्यक्रमों के सफल आयोजन के लिए जरूरी निर्देश दिए। वीडियो कॉन्फ्रेसिंग में श्री मिश्रा ने बताया कि 02 अक्टूबर को छत्तीसगढ़ के सभी पंचायतों में आयोजित विशेष ग्रामसभा में गांववाले स्वच्छता संबंधी योजनाओं पर विचार-विमर्श करेंगे और अपने गांव को साफ-सुथरा बनाने की शपथ लेंगे। इस दौरान गांव-गांव में रैलियों, प्रभात-फेरियों और कला-जत्था द्वारा सांस्कृतिक प्रस्तुतियों के माध्यम से लोगों में सफाई के प्रति जागरूकता भी पैदा की जाएगी। वीडियो कॉन्फ्रेसिंग में कलेक्टरों ने जानकारी दी कि राष्ट्रीय स्वच्छता अभियान के सतत पर्यवेक्षण के लिए ग्राम पंचायत स्तर पर नोडल और प्रभारी अधिकारी नियुक्त किए गए हैं। ये अधिकारी सभी विभागों के मध्य समन्वय कर अभियान की सफलता सुनिश्चित करेंगे।
    सचिव श्री मिश्रा ने कहा कि सभी अधिकारियों और कर्मचारियों को सफाई के लिए हर सप्ताह दो घंटे श्रमदान करना चाहिए। उन्होंने कहा कि स्वच्छता के लिए श्रमदान को आदत में शामिल करते हुए साल में कम से कम सौ घंटे का श्रमदान किया जा सकता है। श्री मिश्रा ने सभी कलेक्टरों को बताया कि स्वच्छता अभियान के तहत 15 अक्टूबर को प्रदेश के सभी स्कूलों में हाथ धुलाई कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। कार्यक्रम में साबुन से बच्चों के हाथ धुलवाकर उनमें साफ-सफाई के प्रति जागरूकता लाई जाएगी। साथ ही इस दिन दोपहर 12 बजे से तीन बजे तक प्रदेश के सभी गांवों और शहरों में प्रदेशव्यापी स्वच्छता रैली निकाली जाएगी। वीडियो कॉन्फ्रेसिंग में बिलासपुर संभाग के आयुक्त श्री सोनमणि बोरा ने कहा कि स्वच्छता अभियान के तहत 02 अक्टूबर को वहां आयोजित होने वाले कार्यक्रमों की विस्तार से जानकारी दी। साथ ही उन्होंने कहा कि वे स्वयं सफाई के लिए हर सप्ताह दो घंटे का श्रमदान करेंगे। कांकेर के कलेक्टर श्रीमती अलरमेल मंगई डी ने वीडियो कॉन्फ्रेसिंग में बताया कि वहां शारदीय नवरात्रि के अवसर पर गढ़िया महोत्सव में आए संतों के द्वारा अपने प्रवचनों में श्रोताओं को स्वच्छता की प्रेरणा दी जा रही है। प्रवचनकर्ता संत महात्मा अपने कार्यक्रमों में लोगों को साफ-सफाई के प्रति जागरूक रहने की प्रेरणा दे रहे हैं। महोत्सव में रात्रि में होने वाले सांस्कृतिक कार्यक्रमों में भी सफाई के प्रति जन-जागरण का प्रयास किया जा रहा है।
    श्री मिश्रा ने कहा कि अन्य जिलों में भी सांस्कृतिक आयोजनों के माध्यम से साफ-सफाई के प्रति जागरूकता लाने का प्रयास होना चाहिए। वीडियो कॉन्फ्रेसिंग में लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के विशेष कर्तव्यस्थ अधिकारी डॉ. एम.अल. अग्रवाल, प्रमुख अभियंता श्री टी.जी. कोसरिया, सी.सी.डी.यू. की निदेशक श्रीमती यास्मीन सिंह तथा जल एवं स्वच्छता संगठन के संचालक श्री एम.ए. खान भी मौजूद थे।  

क्रमांक-2118/सुदेश

Date: 
01 Oct 2014