Homeरायपुर : केन्द्र सरकार ने एक बार फिर राज्य को पुरस्कृत किया : राष्ट्रीय पर्यटन पुरस्कार से सम्मानित हुआ छत्तीसगढ़

Secondary links

Search

रायपुर : केन्द्र सरकार ने एक बार फिर राज्य को पुरस्कृत किया : राष्ट्रीय पर्यटन पुरस्कार से सम्मानित हुआ छत्तीसगढ़

Printer-friendly versionSend to friend

 मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने दी बधाई
एक माह से भी कम समय में राज्य को मिले नौ राष्ट्रीय पुरस्कार

    रायपुर, 18 फरवरी 2014

केन्द्र सरकार ने आज एक बार फिर छत्तीसगढ़ को राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया। इस बार यह पुरस्कार नए राज्य में राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए  अंग्रेजी के अलावा भारतीय भाषाओं और विदेशी भाषाओं में सैलानियों के लिए सुरूचिपूर्ण ज्ञानवर्धक पर्यटन साहित्य के प्रकाशन पर केन्द्रीय पर्यटन मंत्रालय द्वारा छत्तीसगढ़ पर्यटन मंडल को प्रदान किया गया। आज नई दिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित समारोह में केन्द्रीय मानव संसाधन विकास राज्य मंत्री श्री शशि थरूर ने छत्तीसगढ़ पर्यटन मंडल के महानिदेशक श्री संतोष मिश्रा को राज्य के लिए वर्ष 2012-13 का यह पुरस्कार सौंपा।
श्री थरूर ने इस मौके पर राजधानी रायपुर के माना स्थित स्वामी विवेकानंद विमानतल को देश के सर्वश्रेष्ठ विमानतल के रूप में पुरस्कृत किया। रायपुर स्थित माना विमानतल प्राधिकरण के संचालक श्री अनिल राय ने केन्द्रीय राज्य मंत्री से प्राधिकरण के लिए यह पुरस्कार ग्रहण किया। इस अवसर पर देश विदेश से आये पर्यटन विशेषज्ञ व विभिन्न राज्यों के पर्यटन मंत्री व अधिकारीगण भी उपस्थित थे। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज राज्य को राष्ट्रीय पर्यटन पुरस्कार मिलने पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए पर्यटन मंडल को बधाई देते हुए उम्मीद जताई है कि सबकी मेहनत से छत्तीसगढ़ पर्यटन के क्षेत्र में देश-विदेश में और भी अधिक शोहरत हासिल करेगा। प्रदेश के पर्यटन मंत्री श्री अजय चन्द्राकर ने भी इस उपलब्धि के लिए पर्यटन विभाग और बोर्ड के अधिकारियों को बधाई दी है।
उल्लेखनीय है कि राज्य गठन के बाद छत्तीसगढ़ पर्यटन मंडल को पहली बार केन्द्र सरकार ने राष्ट्रीय पुरस्कार से नवाजा है। छत्तीसगढ़ पर्यटन मंडल ने प्रदेश के सिरपुर, राजिम आदि ऐतिहासिक और धार्मिक तथा सांस्कृतिक महत्व के आस्था केन्द्रों और चित्रकोट जैसे पर्यटन स्थलों तथा छत्तीसगढ़ के हस्तशिल्प, लोक नृत्य और वन्य जीवन पर केन्द्रित कई सुरूचिपूर्ण सचित्र फोल्डर आदि का प्रकाशन विदेशी भाषाओं में किया है, जिनमें कोरियन, जापानी, चीनी, सिंहली, जर्मन और थाई भाषाएं उल्लेखनीय है। इसके अलावा भारतीय भाषाओं में हिंदी, मराठी, बंगला और गुजराती में भी छत्तीसगढ़ के दर्शनीय स्थलों के बारे में कलात्मक प्रचार साहित्य प्रकाशित किया गया है। नया रायपुर में स्थित स्वामी विकानंद एयरपोर्ट में यात्रियों के लिए विश्व की समस्त आधुनिकतम सुविधाएं सुलभ कराई गई है। यह 1100 एकड़ क्षेत्र में फैला है। रात्रि में विमान के उतरने की सुविधा सहित विभिन्न शहरों के लिए विमान सुविधा भी यहां सुलभ हैं। पुरस्कार वितरण समारोह में छत्तीसगढ़ पर्यटन मंडल के अधिकारी भी उपस्थित थे।
यह भी उल्लेखनीय है कि आज मिले इन पर्यटन पुरस्कारों को मिलाकर एक महीने से भी कम समय में छत्तीसगढ़ को विकास के विभिन्न क्षेत्रों में नौ राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त हो चुके हैं। इनमें से दो फरवरी को नई दिल्ली में केन्द्रीय ग्रामीण विकास मंत्री श्री जयराम रमेश के हाथों महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना (मनरेगा) के तहत प्राप्त पांच राष्ट्रीय पुरस्कार, सर्वाधिक चावल उत्पादन के लिए दस फरवरी को राष्ट्रपति श्री प्रणव मुखर्जी के हाथों प्राप्त वर्ष 2012-13 को राष्ट्रीय कृषि कर्मण पुरस्कार भी विशेष रूप से उल्लेखनीय है। इसके अलावा कोलकाता में इस महीने की सात से नौ तारीख तक अशासकीय संस्था इब्राड द्वारा आयोजित कार्यक्रम में छत्तीसगढ़ की संयुक्त वन प्रबंधन समितियों को दिया गया राष्ट्रीय पुरस्कार तथा मुम्बई स्थित साफ्टवेयर कम्पनियों के राष्ट्रीय संगठन नास्कॉम (NASSCOM) द्वारा छत्तीसगढ़ के कोर पी.डी.एस. को दिया गया सामाजिक नवाचार पुरस्कार भी शामिल है।

क्रमांक-3849/स्वराज्य

 

Date: 
18 Feb 2014