Homeरायपुर : सांसद आदर्श ग्राम योजना : ग्राम गिरौद में 100 युवाओं को विभिन्न ट्रेडो में दिया गया प्रशिक्षण : अब तक 523 घरों में शौचालय निर्माण पूर्ण

Secondary links

Search

रायपुर : सांसद आदर्श ग्राम योजना : ग्राम गिरौद में 100 युवाओं को विभिन्न ट्रेडो में दिया गया प्रशिक्षण : अब तक 523 घरों में शौचालय निर्माण पूर्ण

Printer-friendly versionSend to friend

स्व-सहायता समूह के जरिये 456 महिलाएं हुई आत्मनिर्भर
लगभग 22 लाख रूपये के निर्माण कार्य मंजूर

रायपुर, 28 अप्रैल 2015

सांसद आदर्श ग्राम योजना के तहत चयनित रायपुर जिले के धरसींवा विकासखण्ड के ग्राम गिरौद में 100 युवाओं को सुरक्षा गार्ड, इलेक्ट्रिशयन, ड्राइवर, मोटर वाइंडर और मैकेनिक ट्रेड में प्रशिक्षण दिया जा चुका है। वहीं इन युवाओं को  रोजगार मुहैया कराने गांव के आस-पास संचालित औद्योगिक कारखाना जैसे निको, गोदावरी इस्पात, पेपर मिल, टिम्बर इंडस्ट्री, ब्रीक्स प्लांट आदि से भी संपर्क किया जा रहा है। योजना के तहत गांव के त्वरित विकास के लिए शासन के विभिन्न योजनाओं के तहत निर्माण कार्यो के लिए लगभग 22 लाख रूपये की स्वीकृति प्रदान कर दी गई है। सांसद आदर्श ग्राम योजना के तहत इस गांव का चयन रायपुर के लोक सभा सांसद श्री रमेश बैस द्वारा किया गया है।
       योजना के तहत ग्राम गिरौद को स्वच्छ भारत मिशन के तहत खुले में शौच मुक्त ग्राम बनाने की पहल शुरू कर दी गयी हैं। जल्द ही शत प्रतिशत घरों में शौचालय निर्माण पूरा कर लिया जाएगा। ग्राम गिरौद में कुल 777 परिवार निवास करते है। इसमें 670 एपीएल और 107 बीपीएल परिवार हैं। यहां पांच सौ तेइस घरों में  शौचालय निर्माण पूर्ण हो चुके है। शेष 254 परिवारों के घरों में शौचालय निर्माण की स्वीकृति मिलने के बाद  शौचालय निर्माण कार्य प्रगति पर है। शौचालय निर्माण एवं गांव को स्वच्छ रखने के लिए विभागीय अधिकारियों द्वारा पांच दिवसीय प्रशिक्षण भी दिया गया। पहले गांव में स्थित तालाबों का उपयोग मनुष्यों  और पशुओं दोनों के लिए किया करते थे। जिससे कई प्रकार की बीमारियां फैल जाती थी । ग्रामीणों ने स्वाथ्य की दृष्टि से गांव में उपलब्ध तालाबों को मनुष्यों के निस्तारी और पशुओं के लिए अलग-अलग चिन्हाकिंत किया है, ताकि बीमारियों से बचा जा सके। आदर्श ग्राम में परिणित करने बेसलाइन सर्वे के आधार पर अधोसंरचना विकास भी किया जा रहा है। इसके अंतर्गत तालाबों का सौंदर्यीकरण, मिनी आडिटोरियमे निर्माण, हाई स्कूल पहुंच मार्ग, गोठान निर्माण तथा पशुओं के लिए चारागाह के लिए भूमि का चिन्हाकंन किया गया है।  
        ग्राम गिरौद में 14 महिला स्व-सहायता समूह है, इसमें 456 महिलाएं अलग-अलकग गतिविधियों में काम कर रही है। इसमें से छह समूह को मशरूम व्यवसाय से जोड़ा गया है। वे अब अच्छे आमदनी कर रहे हैं।योजना के तहत कलेक्टर की अध्यक्षता में बीस सदस्यीय टीम गठन किया गया है, जिसमे सभी विभागों के अधिकारी शामिल है जो आदर्श ग्राम के रूप विकसित करने प्रगति का निरीक्षण करेंगे। इसके आलावा यहां ‘कार्ड’ संस्था द्वारा ग्रामीणों के सहभागिता से विकास योजना तैयार की गई है। गांवों में प्रेरकों का समूह गठित कर नशा मुक्ति तथा नशीले पदार्थो पर प्रतिबंध के लिए प्रयास किया जा रहा है। ग्रामीणों को समस्याओं से निजात दिलाने 31 मार्च 2015 को उच्च स्तरीय जनसमस्या निवारण शिविर भी आयोजित की गई थी। उद्यानिकी विभाग द्वारा गांव पहुंच मार्ग के दोनों तरफ वृक्षारोपण करने कार्य योजना में शामिल किया गया है।

क्रमांक-529/ओम

Date: 
28 Apr 2015