Homeरायपुर : स्वच्छता जागरूकता समारोह : मुख्यमंत्री ने करम्हा और कुनकुरी ग्रामों को साक्षरता के लिए सम्मानित : मुख्यमंत्री से महिला सरपंचों ने प्राप्त किया साक्षरता सम्मान

Secondary links

Search

रायपुर : स्वच्छता जागरूकता समारोह : मुख्यमंत्री ने करम्हा और कुनकुरी ग्रामों को साक्षरता के लिए सम्मानित : मुख्यमंत्री से महिला सरपंचों ने प्राप्त किया साक्षरता सम्मान

Printer-friendly versionSend to friend

रायपुर, 04 मई 2016

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कल मंगलवार को सरगुजा संभाग के मुख्यालय अम्बिकापुर में आयोजित स्वच्छता जागरूकता समारोह में सांसद आदर्श ग्राम करम्हा और बतौली विकासखण्ड के ग्राम कुनकुरी को शत्-प्रतिशत साक्षरता के लिए सम्मानित किया गया। मुख्यमंत्री से करम्हा की सरपंच श्रीमती हिरमनिया देवी एवं ग्राम पंचायत कुनकुरी की सरपंच श्रीमती साधना सिंह ने साक्षरता सम्मान प्राप्त किया। कृषि मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल, नगरीय प्रशासन मंत्री श्री अमर अग्रवाल, विधानसभा के नेताप्रतिपक्ष श्री टी.एस. सिंहदेव, लोकसभा सांसद श्री कमलभान सिंह और विधायक श्री चिंतामणी महराज भी इस अवसर पर उपस्थित थे। इन ग्रामों में साक्षर भारत कार्यक्रम के तहत् ग्रामीणों को जनप्रतिनिधियों के मार्गदर्शन एवं सहयोग तथा प्रेरक एवं अनुदेशकों के सतत् प्रयास से साक्षर किया गया है। जिले की अन्य ग्रामों में भी नियमित रूप से साक्षरता कक्षाएं संचालित है, जिसके माध्यम से शत्-प्रतिशत लोगों को साक्षर करने का प्रयास किया जा रहा है। इस
कलेक्टर श्रीमती ऋतु सैन के मार्गदर्शन में सांसद आदर्श ग्राम करम्हा में साक्षरता के प्रेरक, स्वयंसेवक एवं साक्षरता सेना के अनुदेशकों ने ग्रामवासियों के साथ मिलकर ग्राम पंचायत के 575 असाक्षरों को साक्षर करने में अपनी महती भूमिका का निर्वहन किया। साक्षर भारत के प्रेरकों ने सभी के सहयोग से स्वच्छ भारत अभियान के तहत 381 शौचालयों के निर्माण के लिए ग्रामीणों को प्रेरित कर उन्हें आवश्यक सहयोग प्रदान किया। उनके प्रयासों से आज ग्राम पंचायत करम्हा पूर्णतः ओडीएफ एवं खुले में शौच से मुक्त ग्राम पंचायत है।
“सुबह पढ़े बालक, शाम को पढ़े पालक” कार्यक्रम के तहत प्रेरकों ने विधवा, परित्यक्ता, मितानिन एवं स्वसहायता समूह की असाक्षर महिलाओं को साक्षर करने के लिए विद्यालयों में कक्षाएं संचालित की। जिसमें साक्षरता के प्रेरक, स्वयंसेवक एवं साक्षरता सेना के अनुदेशकों ने ग्रामवासियों के साथ मिलकर ग्राम पंचायत की 18 असाक्षर महिलाओं को साक्षर करने में अपना योगदान दिया। साथ ही नशामुक्ति के क्षेत्र में भी सराहनीय कार्य किया गया है। वर्तमान में नशामुक्त ग्राम पंचायत करम्हा में 29 स्व सहायता समूह इस कार्य में सक्रियता से अपनी भूमिका का निर्वहन कर रहे हैं।
विकासखण्ड बतौली की ग्राम पंचायत कुनकुरी मंे साक्षर भारत कार्यक्रम के अन्तर्गत साक्षरता के प्रेरक, स्वयंसेवक एवं साक्षरता सेना के अनुदेशकों ने ग्राम पंचायत के 302 निरक्षरों को साक्षर करने का सतत प्रयास किया। स्वच्छ भारत अभियान के तहत् कुनकुरी मंे 376 शौचालयों का निर्माण किया गया, जिसके फलस्वरूप वर्तमान में कुनकुरी पूर्णतः खुले में शौच से मुक्त ग्राम पंचायत है। वर्तमान में ग्राम पंचायत कुनकुरी में कुल 26 स्वसहायता समूह सक्रिय हैं। कलेक्टर श्रीमती सैन ने इन ग्रामों के जनप्रतिनिधियों तथा लोक शिक्षा समिति के अधिकारी एवं कर्मचारियों को हार्दिक बधाई देते हुए अन्य लोगों को भी शिक्षा, नशामुक्ति एवं स्वच्छता के लिए प्रेरित करने का आग्रह किया है।

क्रमांक-698/सोलंकी

Date: 
04 May 2016