Homeउत्तर बस्तर (कांकेर) : डेढ़ सौ से अधिक मरिजों का स्वास्थ्य परीक्षण, निःशुल्क दवा वितरित

Secondary links

Search

उत्तर बस्तर (कांकेर) : डेढ़ सौ से अधिक मरिजों का स्वास्थ्य परीक्षण, निःशुल्क दवा वितरित

Printer-friendly versionSend to friend

उत्तर बस्तर (कांकेर) 30 सितंबर 2015 

कोयलीबेड़ा विकासखंड के ग्राम अलपरस खास, केसेकोड़ी, हेराकसा एवं चिलपरस में उल्टी दस्त की शिकायत पर स्वास्थ्य विभाग द्वारा स्वास्थ्य शिविर का आयोजन कर 151 मरीजों का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया तथा आवश्यकतामंदों को निःशुल्क दवाईयां वितरित की गई।
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ तुर्रे ने बताया कि विकासखण्ड कोयलीबेड़ा के ग्राम अलपरस खास, केसेकोड़ी, हेराकसा एवं चिलपरस में उल्टी-दस्त से प्रभावित होने की सूचना खण्ड चिकित्सा अधिकारी कोयलीबेड़ा के द्वारा दिये जाने उपरांत 25 सितंबर से लगातार उक्त ग्रामों में काम्बेक्ट टीम डॉ.अशोक शंभाकर, चिकित्सा अधिकारी, श्री अजय कश्यप ग्रामीण चिकित्सा सहायक, श्री संजय रामटेके फार्मासिस्ट, श्री सुखनंदन बघेल स्वास्थ्य कार्यकर्ता, श्री कमलेश टेकाम, कु. विमला मरावी स्वास्थ्य कार्यकर्ता, कुन्ती मनहरे स्वास्थ्य कार्यकर्ता, कौशल्या ठाकुर के द्वारा शिविर लगाकर प्रभावितों का उपचार किया जा रहा है। ग्राम अलपरस में 51, केसेकोडी में 36, हेराकसा में 12 सर्दी-खांसी के सामान्य मरीजों का स्वास्थ्य जांच तथा आवश्यक दवाईयां वितरण कर उपचार किया गया। उल्टी-दस्त के कोई भी मरीज नहीं पाये गये। काम्बेक्ट टीम के द्वारा निरन्तर शिविर लगाकर ग्रामीणों एवं आस-पास के ग्रामों के व्यक्तियों का स्वास्थ्य परीक्षण व उपचार करते हुए स्वास्थ्य शिक्षा दी जा रही है। साथ ही सडे-गले व बासी भोजन का सेवन नहीं करने व पानी को उबालकर पीने की सलाह दी जा रही है। आज दो काम्बेक्ट टीम डॉ.ए.के.शंभाकर व डॉ.एस.डी.शेण्डे सहित कुल 12 स्वास्थ्य कर्मचारियों का काम्बेक्ट टीम द्वारा ग्राम केसेकोडी में बुखार के 07 तथा अन्य 18, अलपरस खास में बुखार के 16 तथा अन्य के 11 मरीजों का स्वास्थ्य जांच तथा उपचार किया गया तथा इनमें से कोई भी उल्टी-दस्त के मरीज नहीं पाये गये। डॉ तुर्रे ने बताया कि वर्तमान में जिले सभी विकासखण्डों में ग्राम स्तर तक पर्याप्त मात्रा में जीवन रक्षक दवाईयां उपलब्ध है।

Date: 
30 Sep 2015