Homeधमतरी : मनरेगा के तहत राष्ट्रीय स्तर के दो पुरस्कारों से अलंकृत हुआ धमतरी जिला

Secondary links

Search

धमतरी : मनरेगा के तहत राष्ट्रीय स्तर के दो पुरस्कारों से अलंकृत हुआ धमतरी जिला

Printer-friendly versionSend to friend

उत्कृष्ट प्रादर्श और श्रेष्ठ मजदूरी भुगतान के लिए केन्द्रीय पंचायत मंत्री द्वारा पुरस्कृत


धमतरी 04 फरवरी 2016

महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारण्टी योजना के तहत धमतरी जिले को राष्ट्रीय स्तर के दो पुरस्कारों से एक बार फिर नवाजा गया है। मंगलवार दो फरवरी को ये पुरस्कार केन्द्रीय पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री चौधरी बीरेन्द्र सिंह के हाथों प्रदाय किए गए। जिले को पहला पुरस्कार मनरेगा के अंतर्गत किए गए नवाचार का प्रदर्शन उत्कृष्ट प्रादर्श (बेस्ट मॉडल) के लिए शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय भटगांव के परिसर में विकसित ज्ञानवर्धक गार्डन को तथा दूसरा पुरस्कार डाकघर के माध्यम से मजदूरी का श्रेष्ठ भुगतान व वितरण के लिए भटगांव डाकघर के डाकसेवक श्री गजाधर सिन्हा को प्रदान किया गया।
    मनरेगा के 11वें स्थापना दिवस के अवसर पर मंगलवार दो फरवरी को नई दिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित महात्मा गांधी नरेगा सम्मेलन में विभिन्न राज्यों द्वारा उत्कृष्ट कार्यों की प्रदर्शनियां लगाई गईं, जिसमें धमतरी जिले के मैथेमेटिकल तथा न्यूट्रिशनल गार्डन पर आधारित प्रादर्श को सर्वोत्कृष्ट घोषित किया गया। यह पुरस्कार केन्द्रीय ग्रामीण विकास मंत्री श्री सिंह द्वारा राज्य सरकार की ओर से यह पुरस्कार पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के सचिव श्री पी.सी. मिश्रा तथा नोडल अधिकारी श्री सुभाष मिश्र को प्रदान किया गया। उल्लेखनीय है कि कलेक्टर श्री भीम सिंह तथा जिला पंचायत के सी.ई.ओ. श्री पी.एस. एल्मा के निर्देश एवं मार्गदर्शन में वर्ष 2014-15 में भटगांव के हायर सेकण्ड्री स्कूल परिसर में उद्यानिकी विभाग द्वारा ऐसा गार्डन विकसित किया गया, जिसमें गणित में प्रयोग होने वाले विभिन्न प्रतीकों यथा- त्रिभुज, चतुर्भुज, वर्ग, आयत, समकोण, न्यूनकोण, अधिककोण आदि का प्रदर्शन एज प्लांट (जस्ट्रेशिया) के माध्यम से विकसित किया गया है। इसके अलावा विभिन्न प्रकार के फलदार पौधे नींबू, अमरूद, आम, पपीता जैसे विटामिनयुक्त पौधे रोपकर महत्वपूर्ण जानकारी दी गई है। साथ ही एनुअल फ्लॉवरिंग (बारहमासी फूल-पत्ते) वाले पौधे भी उद्यानिकी विभाग द्वारा मनरेगा के तहत विकसित किए गए हैं। इस पर आधारित मॉडल का प्रदर्शन दिल्ली के विज्ञान भवन में किया गया, जिसमें धमतरी के अलावा प्रदेश की दो अन्य जिलांे की प्रदर्शनियां भी शामिल थीं, जिनमें धमतरी के प्रादर्श की सर्वाधिक सराहना हुई।
    इसी तरह वित्तीय वर्ष 2014-15 में ग्राम भटगांव के डाकघर में पदस्थ ग्रामीण डाक सेवक श्री गजाधर प्रसाद सिन्हा को मनरेगा मजदूरी भुगतान श्रेणी का उत्कृष्ट पुरस्कार दिया गया है। जी.डी.एस. श्री सिन्हा ने उक्त वित्तीय वर्ष में दो करोड़ 12 लाख रूपए से अधिक का मजदूरी अविलंब भुगतान तत्परता से किया, जिसके लिए उन्हें मनरेगा मजदूरी की भुगतान श्रेणी के श्रेष्ठ पुरस्कार से केन्द्रीय मंत्री द्वारा नवाजा गया। श्री सिन्हा द्वारा भटगांव सहित आठ अन्य ग्राम पंचायतों का मजदूरी भुगतान निर्धारित समय-सीमा में किया गया। उल्लेखनीय है कि गत वर्ष 2015 में भी नगरी के विकासखण्ड की ग्राम पंचायत छुही के ग्रामीण डाक सेवक श्री धु्रव को श्रेष्ठ मजदूरी वितरण के लिए उक्त राष्ट्रीय पुरस्कार से अलंकृत किया जा चुका है।

क्रमांक-19/1655 / ताराशंकर सिन्हा

 

Date: 
04 Feb 2016