Homeबैकुण्ठपुर : अच्छी शिक्षा और बेहतर स्वास्थ्य से होगा विकास : श्रीमती मरकाम : ग्राम रतनपुर में 156 आवेदन आए

Secondary links

Search

बैकुण्ठपुर : अच्छी शिक्षा और बेहतर स्वास्थ्य से होगा विकास : श्रीमती मरकाम : ग्राम रतनपुर में 156 आवेदन आए

Printer-friendly versionSend to friend

जिला स्तरीय जनसमस्या निवारण शिविर में बांटे गए फलदार पौधे

बैकुण्ठपुर 30 अक्टूबर 2015

हमारे जीवन स्तर में सुधार लाने के लिए शिक्षित होना बहुत जरूरी है। जब हम सब शिक्षित होकर जागरूक होगे तभी स्वास्थ्य ठीक होगा और हम अपनी आर्थिक मजबूती में सफल होंगे। उक्ताशय के विचार व्यक्त करते हुए जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती कलावती मरकाम ने कहा कि स्वच्छता के लिए शौचालय का उपयोग अति आवश्यक है। यह हमारे मान सम्मान और शर्म से जुडा हुआ मामला है। प्रत्येक परिवार को शौचालय बनाकर उसका नियमित उपयोग करना चाहिए। बुधवार को खडगंवा विकासखण्ड के ग्राम पंचायत रतनपुर में आयोजित जिला स्तरीय जनसमस्या निवारण षिविर में जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती कलावती मरकाम मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित रही। शिविर को संबोधित करते हुए उन्होने कहा कि हमारे सरपंच और पंचो को अपने गांव में प्रत्येक घर में शौचालय का निर्माण कराने में जुट जाना चाहिए। उन्होने कहा कि बेहतर स्वास्थ्य और शिक्षित होकर ही हम शासन की लाभकारी योजनाओं से जुड़ कर उनका लाभ ले सकते है।
शिविर में उपस्थित कलेक्टर कोरिया श्री एस प्रकाष ने कहा कि शौचालय के उपयोग से आपका परिवार स्वस्थ रहेगा और मौसमी बीमारियों जैसे उल्टी, दस्त भी निजात मिलेगी। शौचालय उपयोग के लिए प्रेरित करते हुए उन्होने सभी को इसका निर्माण करने से होने वाले फायदो के बारे में बताया। उन्होने शिविर में उपस्थित सभी ग्रामीणों से शौचालय निर्माणकर सपरिवार नियमित उपयोग का आग्रह किया। बुधवार को रतनपुर में आयोजित जिला स्तरीय जनसमस्या निवारण षिविर में जिले के पुलिस कप्तान श्री बी.एस.ध्रुव और जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री संजीव कुमार झा भी उपस्थित रहे।
शिविर की शुरूआत में सभी विभाग प्रमुखों द्वारा शासन की योजनाओं के बारे में ग्रामीणों को जानकारी प्रदान की गई। इसके पश्चात वहा उपस्थित ग्रामीणों को स्वच्छता और शौचालय उपयोग के लिए प्रेरित करने के लिए प्रश्नोंत्तरी का आयोजन किया गया। स्वच्छता से जुडे सवालों पर ग्रामीणों ने बढ चढकर हिस्सा लिया। प्रश्नों का सही जवाब देने वाले ग्रामीणो को प्रोत्साहन स्वरूप पुरस्कार वितरित किए गए। रतनपुर षिविर में 17 परिवारों को राष्ट्रीय सहायता कार्यक्रम के तहत 20-20 हजार रूपए की राहत राशिप्रदान की गई। साथ ही सर्पदंष से मृत हुए स्व. देव सिंह की आश्रित पत्नी श्रीमती कमलाबाई को 1 लाख 50 हजार रूपए की सहायता रािष प्रदान की गई। शिविर में आई हुई 14 गर्भवती माताओं की गोदभराई की रस्म निभाई गई और आठ नव निहालों को खीर खिलाकर अन्नप्राषन संस्कार कराया गया। षिविर में पशु चिकित्सा विभाग के द्वारा अनुसूचित जनजाति वर्ग के सात हितग्राहियों को आजीविका के स्थाई साधन प्रदान करने के लि सात ईकाई बटेर के चूजे वितरित किए गए। विभाग द्वारा 172 पशुपालकों को आवष्यकतानुसार दवाओं का वितरण भी किया गया। षिविर में वन विभाग द्वारा ग्रामीणों को निःषुल्क 740 फलदार पौधे वितरित किए गए। बांटे गए पौधो में आम, कटहल, आंवला और पपीता जैसे फलदार पौधे बाटे गए। षिविर में खडगंवा के अनुविभागीय दण्डाधिकारी श्री ए.एल.ध्रुव, प्रषिक्षु डिप्टी कलेक्टर सुश्री अभिलाषा पैकरा, जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एम.एल.वर्मा, सहायक संचालक मत्स्य श्री चौरसिया, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.एस.एल.चावडा, सहायक संचालक पशु चिकित्सा विभाग श्री एस.बी सिंह, सहित अन्य विभाग प्रमुख आस पास ग्राम पंचायतों के सरपंच, पंच और भारी संख्या में ग्रामीण महिलाए-पुरूष उपस्थित रहे।

 

समाचार क्रमांक 1390
 

Date: 
30 Oct 2015