Homeसुकमा : दण्डाधिकारी जांच के आदेश दिए गए

Secondary links

Search

सुकमा : दण्डाधिकारी जांच के आदेश दिए गए

Printer-friendly versionSend to friend

सुकमा 26 अपै्रल 2017

   ग्राम कुमड़तोंग, गोरामंगू एवं सिंगनपाड़, थाना-किस्टाराम एवं आस-पास के आम नागरिकों को सूचित किया जाता है कि कार्यालय कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी जिला सुकमा के आदेश क्रमंाक 1375/सा.लि./न.क्र.-99/2016 सुकमा 16.05.2016 के प्रतिवेदन अनुसार दिनांक 23.04.2016 को नक्सली कमाण्डर सोढ़ी सुधाकर किस्टाराम एरिया कमेटी के साथ अन्य नक्सली कमाण्डरों का ग्राम डोरामंगू के जंगल में मीटिंग आयोजित करने के मुखबीर सूचना के आधारी पर थाना किस्टाराम से एसटीएफ$डीआरजी एवं कैम्प धर्मापेंटा से जिला बल$डीआरजी$एसटीएफ का संयुक्त बल गस्त सर्चिंग हेतु ग्राम पालोडी, कुमड़तोंग, दोरामंगू, सिंगनपाड़ डोकपाड़ की ओर रवाना हुये थे कि अभियान के दौरान कैंप धर्मांपेंटा एवं थाना किस्टाराम से निकली पार्टी पर प्रातः लगभग 09ः50 बजे ग्राम कुमड़तोग के जंगल, डोरामंगू व सिंगनपाड़  के मध्य मे पूर्व से घात लगाकर बैठे नक्सलियों द्वारा पुलिस पार्टी को जान से मारने एवं हथियार लूटने की नियत से अंधाधुंध फायरिंग किया गया। पुलिस बल के जवानों द्वारा तत्काल मोर्चा लेकर नक्सलियों को आत्मसमर्पण करने हेतु बार-बार ललकारा गया किन्तु नक्सली पुलिस की चेतावनी को नजर अंदाज करते हुये पुलिस पार्टी पर लगातार फायरिंग करते रहे। पुलिस पार्टी द्वारा भी आत्मरक्षार्थ जवाबी फायरिंग किया गया। पुलिस की बढ़ती दबाव को देख नक्सली एक-दूसरे का नाम सुधाकर, दुला हुंगा, सिराम, पाण्डू, प्रकाश, मुड़ा, गंगा आदि नाम लेकर घने जंगल का फायदा उठाकर भाग गये। मुठभेड़ पश्चात् घटना स्थ्ज्ञल की सर्चिंग करने पर 01 पुरूष नक्सली का शव व 01 भरमार बंदूक, कोर्डेक्स वायर, साबुन बम, डेटोनेटर, गन पाउडर, स्प्रिंटर/छर्रा, रस्सी बम, जिलेटिन, 04 नग इंसास का जिंदा राउण्ड, 03नग एसएलआर का जिंदा राउण्ड, नक्सली बैनर, पिठ्ठू नक्सली साहित्य एवं अन्य दैनिक उपयोग की सामग्री बरामद किया कि प्रार्थी निरीक्षक अमित सिंह पिता श्री मालिकराम भैना उम्र 32 वर्ष थाना प्रभारी किस्टाराम की रिपोर्ट पर किस्टाराम में अपराध क्रंमाक 06/2016 धारा 147,148,149,307, भादवि 25,27 आर्म्स एक्ट 3,5 वि0प0अधि0 का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना कार्यवाही में लिया गया। मृत नक्सली की पहचान सोड़ी पाण्डू पिता भीमा निवासी कुमड़तोंग, थाना किस्टाराम तथा माओवादी संगठन के किस्टाराम एरिया कमेटी के सिन्दुरगुड़ा आरपीसी सदस्य तथा कुमड़तोंग मिलिशिया कमाण्डर के रूप में किया गया। घटना की स्थिति से परिचित होने के बाद पुलिस अधीक्षक सुकमा के प्रस्ताव से सहमत होते हुए कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी सुकमा द्वारा दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 176 के तहत् प्रदत्त शक्तियों को प्रयोग में लाते हुये उक्त घटना की दण्डाधिकारी जांच करने का आदेश दिया गया है तथा जांच की कार्यवाही को पूर्ण करने के लिए अपर कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी जिला सुकमा को जॉच अधिकारी नियुक्त कर जॉच हेतु निम्नानुसार बिंन्दु निर्धारित किया गया है-
        क्या नक्सली कमाण्डर सोढी सुधाकर एवं अन्य नक्सली कमाण्डरों की ग्राम डोरामंगू के जंगल में मीटिंग आयोजन हेतु उपस्थित होने की सूचना कब एवं किस समय प्राप्त हुआ। संयुक्त बल कितने समय एवं कब डोरामंगू के जंगलों में गस्त सर्चिंग करते हुये पहूुचे थे?
दिनांक 23.04.2016 को संयुक्त बल एवं नक्सलियों के बीच कहॉ पर मुठभेड़ हुई?
क्या पुलिस बल के द्वारा जवाबी कार्यवाही मे फायरिंग की गई थी एवं पुलिस या नक्सलियों में उक्त कोई व्यक्ति मृत या घायल हुआ था?
उक्त घटना के बाद घटना व्यस्थल से क्या-क्या सामग्री बरामद किया गया?
अन्य बिन्दु जो जॉच अधिकारी आवश्यक समझे?
    उपरोक्त घटना के संबंध में जिस किसी व्यक्ति को किसी तरह की लिखित या मौखिक जानकारी-प्रस्तुत करना हो तो वे पत्र जारी होने की तिथि से अवकाश के दिन को छोड़कर किसी भी दिन कार्यालयीन समय में प्रातः 11ः00 बजे से संध्या 5ः00 बजे तक दिनांक 09/05/2017 के पूर्व स्वयं अथवा अधिवक्ता के माध्यम से कार्यालय में उपस्थित कोकर या पोस्ट के द्वारा प्रस्तुत कर सकता है। नियत तिथि या समय के पश्चात प्राप्त होने वाले साक्ष्य /साक्षी पर विचार नहीं किया जावेगा।


160./सुनील तिवारी

Date: 
26 Apr 2017